Moradabad : साथी कांस्टेबल को हवालात में बंद कर अभद्रता करने के आरोप में पांच सिपाही लाइनहाजिर

मुरादाबाद एसएसपी हेमराज मीना ने मैनाठेर थाने में तैनात पांच सिपाहियों को लाइनहाजिर कर दिया। आरोप है कि एक सिपाही ने डीआईजी के सामने पेश होकर थानेदारों और साथी सिपाहियों की शिकायत की थी। मैनाठेर थाने में तैनात सिपाही रवीश कुमार ने डीआईजी के सामने 26 फरवरी को पेश होकर बताया कि 24 फरवरी को उसको थाने से पुलिस लाइंस में ड्यूटी के लिए भेजा गया था।

25 फरवरी की रात करीब नौ बजे उसके फोन पर मैनाठेर थाने में तैनात सिपाही मनोज पवार की कॉल आई। उसने कहा कि अभी तत्काल मुलाकात करनी है। इसके बाद वह पुलिस लाइंस की आदर्श बैरक के सामने कार लेकर आ गया। सिपाही रवीश जब मनोज पवार से बात करने के लिए आया।

उसने कहा कि अभी मैनाठेर थाने चलो, कोतवाली प्रभारी ने बुलाया है। आरोप है कि इसके बाद आरोपी सिपाही मनोज पवार, रिजवान खां और नितिन कुमार ने रवीश को जबरन कार में बिठाकर मैनाठेर थाना ले गए। वहां चोरी का आरोप लगाते हुए सिपाही और उसके एक अन्य साथी को हवालात में बंद कर दिया गया।

देर रात मेडिकल कराने के बाद उनको छोड़ा गया। डीआईजी ने इस मामले में एसपी देहात संदीप कुमार मीणा को जांच करने के आदेश दिए थे। इस मामले का एसएसपी हेमराज मीना ने भी संज्ञान लिया था।

प्राथमिक जांच रिपोर्ट के आधार पर एसएसपी ने शिकायतकर्ता सिपाही रवीश कुमार, कृष्ण पाल के साथ ही आरोपित सिपाही मनोज पवार, रिजवान खां व नितिन कुमार को लाइन हाजिर करने की कार्रवाई की। एसएसपी ने कहा कि अनुशासन तोड़ने वाले सिपाहियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। ऐसे सिपाहियों की थाने में तैनाती नहीं की जाएगी।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *