Amroha : मालिक गली में घुमा रहा था अपना कुत्ता तभी पिटबुल ने दो साल के मासूम पर कर दिया हमला

धनौरा नगर के मोहल्ला कटरा में कुत्तों के झुंड द्वारा छह साल की बच्ची को नोंचकर बुरी तरह घायल करने का मामला ठंडा नहीं हुआ था कि क्षेत्र के गांव ततारपुर में पिटबुल नस्ल के कुत्ते ने दो साल के मासूम पर हमला कर घायल कर दिया। बताया जा रहा है कि मालिक कुत्ते को खोलकर घूमा रहा था। किसी तरह मासूम बच्चे को बचाया।

बाद में सरकारी अस्पताल में इलाज कराया गया। बच्चे के पिता की ओर से थाना बछरायूं में तहरीर देकर शिकायत दी गई है। गांव ततारपुर निवासी ऋषभ ने बताया कि गांव के ही सतीश ने पिटबुल नस्ल का कुत्ता पाल रखा है। रविवार की शाम को वह अपने कुत्ते को खुला छोड़कर घुमा रहा था।

इसी दौरान ऋषभ का दो वर्षीय बेटा प्राकुल घर के बाहर खड़ा था। देखते ही देखते पिटबुल ने प्राकुल पर अचानक हमला कर घायल कर दिया। परिजनों व ग्रामीणों ने मासूम को बचाया। इस दौरान वह काफी घायल हो चुका था। बाद में परिजन उसे सरकारी अस्पताल लेकर आए।

चिकित्सक ने एंटी रेबीज इंजेक्शन लगाकर मरहम पट्टी कर दी। थानाध्यक्ष राजीव कुमार सिंह ने बताया कि ऋषभ ने गांव के ही सतीश के खिलाफ कुत्ते के हमले की तहरीर दी थी। लेकिन दोनों पक्षों में समझौता हो जाने के कारण कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

उधर, बता दें कि 15 दिन पूर्व गजरौला थाना क्षेत्र के गांव निपनिया निवासी हेमंत के दोस्त ने कई दिन पूर्व जोया कस्बे से पिटबुल नस्ल का कुत्ता खरीदा था। पिटबुल को हेमंत अपने दोस्त से फार्म पर ले आया। तभी पिटबुल ने अचानक उस पर हमला बोल दिया। उसके हाथ में काट लिया। कंधे पर भी जख्म कर दिया। किसी तरह हेमंत को उससे बचाया गया गया।

43 ने कराया रजिस्ट्रेशन 

पिटबुल के हमलों को लेकर नगर पालिका प्रशासन की ओर से कार्रवाई की चेतावनी दी जाती है। पिछले दिनों अधिकारियों ने एक तरफ जहां प्रतिबंधित नस्ल के कुत्तों के पालने वालों को कार्रवाई की नसीहत दी तो वहीं पिटबुल के मालिक को 5000 रुपये के जुर्माना लगाने की चेतावनी दी।

वहीं पिछले कुछ दिन में नगरपालिका क्षेत्र में 43 लोगों ने कुत्ते पालने का रजिस्ट्रेशन कराया है। साथ ही 13500 की फीस जमा की गई। ईओ नगर पालिका बृजेश सिंह ने बताया कुत्ते पालने के लिए रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य है।  धनौरा नगर के मोहल्ला कटरा में कुत्तों के झुंड द्वारा छह साल की बच्ची को घायल करने के बाद पालिका ने अभियान चलाया।

इस दौरान पालिका की टीम ने चार कुत्तों को पकड़ा। ईओ अरुण कुमार ने बताया कि पकड़े गए कुत्तों को नहर के पास छोड़ दिया गया है। उनका कहना था कि निविदा के बाद ही एनजीओ द्वारा कुत्ते पकड़े जाएंगे।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *