Amroha : गजरौला निवासी छात्र का शव पोस्टमार्टम के बाद जब घर पंहुचा तो मच गई चीत्कार हरा देखते ही मां हो गई बदहवास

गजरौला निवासी कारोबारी के बेटे छात्र यश मित्तल का शव पोस्टमार्टम के बाद घर पहुंचा तो मोहल्ले में शोक की लहर दौड़ गई। इकलौते बेटे की हत्या से परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। उधर, शव को देख हर आंख नम हो गई। मां वर्षा मित्तल को आसपास की महिलाएं संभाल रही थीं। घर के बाहर आधा घंटा शव रखने के बाद ब्रजघाट ले जाया गया।

जहां पर उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया। टीचर कॉलोनी निवासी प्रदीप मित्तल के बेटे बीबीए के छात्र यश मित्तल का सोमवार की शाम को अपहरण कर लिया गया। छह करोड़ की फिरौती न मिलने पर गला दबा कर उसकी हत्या कर दी गई। उसका शव बुधवार की शाम तिगरिया भूड़ के खेतों से बरामद किया गया।

रात में ही पोस्टमार्टम कराने के लिए भेज दिया गया था। बृहस्पतिवार की सुबह साढ़े नौ बजे सरकारी एंबुलेंस से उसका शव पोस्टमार्टम के बाद टीचर कॉलोनी में घर पहुंचा। इस दौरान मोहल्ले में शोक की लहर दौड़ गई। महिला हो या पुरुष सभी की आंखें गम में नम हो गई। यश की शव यात्रा में नगर के व्यापारी, सामाजिक संगठन समेत अन्य लोग मौजूद रहे। उधर, इस दौरान पुलिस की कड़ी सुरक्षा रही।

गला दबाकर की गई थी हत्या

बीबीए प्रथम वर्ष के छात्र यश मित्तल की हत्या उसके दोस्तों ने गला दबाकर की थी, इतना ही नहीं उसकी बेरहमी के साथ पिटाई भी की गई थी। इसकी पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुई है। तीन डॉक्टरों के पैनल ने बृहस्पतिवार की सुबह शव का पोस्टमार्टम किया। वीडियोग्राफी भी कराई गई। जिसके बाद परिजनों ने ब्रजघाट में गंगा घाट पर छात्र के शव का अंतिम संस्कार कर दिया है। मृतक यश मित्तल के पिता प्रदीप मित्तल गजरौला में बिजली उपकरणों के बड़े कारोबारी हैं।

यश मित्तल बैनेट यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में रहकर पढ़ता था। 26 फरवरी की शाम 6.30 बजे वह हॉस्टल से बाहर गया था। इसके एक घंटे के बाद उसका फोन बंद हो गया था। 27 फरवरी को उसके पिता के मोबाइल पर एक मैसेज आया था जिसमें छह करोड़ रुपये मांगे गए थे। प्रदीप मित्तल ने इस संबंध में दादरी थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। रिपोर्ट दर्ज करने के बाद पुलिस ने यश के मोबाइल की लोकेशन और कॉल डिटेल के आधार पर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी।
एक के बाद एक कड़ी जोड़ती हुई दादरी पुलिस बुधवार की शाम गजरौला पहुंच गई। पुलिस ने यहां के तिगरिया भूड़ में रहने वाले रचित नागर को भी गिरफ्तार कर लिया। रचित की गिरफ्तारी के दौरान पुलिस को ग्रामीणों के विरोध का भी सामना करना पड़ा। रचित की निशानदेही पर पुलिस ने तेवा फैक्टरी के सामने खेत में गड्ढे से यश का शव बरामद कर लिया था।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *