Sambhal : जाल में फंसने के बाद तेंदुए को दी गई यातानाएं वीट प्रभारी निलंबित

हयातनगर थाना क्षेत्र के गांव धतरा में घर घुसे तेंदुए की मौत के मामले में डीएफओ जेबी शेंडे ने बीट प्रभारी वन रक्षक शिवम पाठक को निलंबित कर दिया है। मुरादाबाद में वन संरक्षक एवं क्षेत्रीय निदेशक रमेश चंद्र ने बताया कि जाल में फंसे तेंदुए के ऊपर चढ़कर उछल-कूद करने वालों की पहचान कराई जा रही है। रेंजर का स्पष्टीकरण भी तलब किया गया है। बृहस्पतिवार को तेंदुए के एक घर में घुसने के बाद पुलिस व वन विभाग की टीम ने उसे जाल में फंसा लिया था। इसके बाद टीम में शामिल लोगों ने जाल में बंद तेंदुए के ऊपर चारपाइयां उल्टी करके बिछा दी थीं।

उन चारपाइयों पर चढ़कर तेंदुए को काबू करने की कोशिश की थी। कुछ देर बाद तेंदुए को बेहोश बताकर मुरादाबाद ले गए थे, जहां उसे मृत घोषित कर दिया था। पोस्टमार्टम के बाद कभी तेंदुए की मौत का कारण दम घुटना तो कभी सदमा और कार्डियक अरेस्ट बताया गया था। जाल में बंद तेंदुए पर तरह-तरह से अतिरिक्त दबाव बनाए जाने के बाद भी पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उसके शरीर पर एक खरोंच भी न मिलने की बात कही गई थी।

जाल में सुरक्षित घिर जाने के बाद भी तेंदुए की मौत हो जाने के मामले का पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने संज्ञान लिया था। तेंदुए पर जुल्म करते लोगों की फोटो वायरल हो जाने के बाद मेनका गांधी के दखल से वन विभाग की टीम ने मामले की जांच और एक्शन की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

ग्रामीणों का सवाल, सिर्फ वन रक्षक दोषी

तेंदुए की मौत के मामले में एक वन रक्षक को निलंबित करके वन विभाग ने भले ही विभागीय चूक को परोक्ष रूप से स्वीकार कर लिया है लेकिन ग्रामीणों के बीच से इस पर सवाल भी उठ रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि फोटो से स्पष्ट है कि जाल में घिरने के बाद तेंदुए के ऊपर चढ़ने वाले समूह में थे। जिनमें बड़ी संख्या में वर्दीधारी थे। इसके बाद भी जिम्मेदारों को वन विभाग का एक छोटे पद वाला कर्मचारी ही दोषी नजर आया।
गांव धतरा में तेंदुए की मौत के मामले को लेकर वन विभाग की टीम ने मौके पर पहुंचकर जांच-पड़ताल की। इस दौरान ग्रामीणों से पूरे मामले की जानकारी ली। हालात समझते हुए कागज पर एक नक्शा भी बनाया। ग्रामीणों ने बताया कि रविवार की दोपहर करीब डेढ़ बजे वन विभाग के संभल के डिप्टी रेंजर उस्मान अली, असमोली के वन दरोगा मोहित कुमार यादव और बेलवाल रामकुंवर सैनी के घर पहुंचे। बृहस्पतिवार को ग्रामीणों द्वारा दौड़ाए जाने पर तेंदुआ रामकुंवर सैनी के घर के शौचालय में ही जा घुसा था।
रविवार को वन विभाग की टीम घर पर आई थी। घर में तेंदुआ कैसे आया, इस बारे में वन विभाग की टीम ने पूछताछ की। वन विभाग की टीम ने नक्शा बनाकर जेठ के पुत्र राधे सैनी से नक्शे पर दस्तखत कराए थे। 

तेंदुए की मौत के मामले में वन रक्षक को दोषी मानते हुए निलंबित किया गया है। अन्य लोगों की भूमिका की जांच की जाएगी। जांच के बाद ही आगे की कार्रवाई होगी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक तेंदुए की मौत कार्डियक अरेस्ट के कारण हुई है। 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *