Rampur : अभिनेत्री जयाप्रदा पर आपत्तिजनक टिप्पणी का मामला में अब्दुल्ला आजम की बढ़ीं मुश्किलें,

उत्तर प्रदेश के रामपुर जिले के निवासी समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव आजम खां की विवादित टिप्पणी मामले में दो गवाहियां पूरी हो गई हैं। अब्दुल्ला आजम ने यह टिप्पणी भाजपा नेत्री और मशहूर अभिनेत्री जयाप्रदा के खिलाफ की थी। मामला साल 2019 में हुए लोकसभा चुनाव का है। रामपुर में आजम खां उस समय सपा-बसपा गठबंधन के प्रत्याशी थे। जबकि उनके मुकाबले में मशहूर अभिनेत्री जयाप्रदा भाजपा से प्रत्याशी थीं। इस दौरान आजम खां के बेटे अब्दुल्ला आजम ने रामपुर के पान दरीबा स्थित मैदान चुनावी जनसभा के दौरान आपत्तिजनक भाषण दिया था। इसी मामले में रामपुर की एमएमए कोर्ट में दो महत्वपूर्ण गवाहियां पूरी हो गई हैं।
अब्दुल्ला के चुनावी भाषण का वीडियो वायरल हुआ था। चुनाव आयोग की तरफ से तैनात वीडियो निगरानी टीम ने इसकी जांच की। बाद में चुनाव आयोग की ओर से ही रामपुर में अब्दुल्ला के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई। फिलहाल यह मामला रामपुर की एमपी एमएलए कोर्ट में विचाराधीन है। इसमें बीते दिनों सुनवाई के दौरान वीडियो निगरानी टीम के प्रभारी की गवाही पूरी हुई हो गई है। यह गवाही इस केस में बहुत अहम मानी जा रही है। इसके बाद इस मामले में अदालती कार्रवाई तेजी से आगे बढ़ेगी।

रामपुर एमपीएमएलए कोर्ट ने अब अगले गवाह को किया गया तलब

अब्दुल्लाह आजम खान के मामले पर अभियोजन अधिकारी नीरज कुमार ने बताया कि अब्दुल्ला के खिलाफ एमपी-एमएलए विशेष न्यायिक मजिस्ट्रेट शोभित बंसल की न्यायालय में चल रहे मामले में दो गवाहियां पूरी हो गई हैं। अब तेजी से अन्य गवाहों को बुलाया जाएगा। इसमें वीडियो अवलोकन टीम के प्रभारी प्रेम नारायण चौधरी से जिरह की गई। अब इसमें अगले गवाह को तलब किया गया है।

अभियोजन अधिकारी नीरज कुमार ने बताया कि साल 2019 में लोकसभा चुनाव के दरम्यान पान दरीबा में अब्दुल्ला आजम खान ने भाषण दिया था। इसमें उन्होंने मशहूर फिल्म अभिनेत्री और तत्कालीन भाजपा की उम्मीदवार जयाप्रदा के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। अभियोजन अधिकारी ने बताया कि एफआईआर में दर्ज रिकॉर्ड के अनुसार अब्दुल्ला ने कहा था “अली भी हमारे, बजरंगबली भी हमारे, लेकिन अनारकली हमें नहीं चाहिए।”
उन्होंने बताया कि इस मामले में अब्दुल्ला के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। इसमें धारा 171 जी आईपीसी और 125 लोग प्रति अधिनियम की धारा इनके ऊपर लगी है। इसी पर इनके ऊपर आरोप बना है और इसी पर ट्रायल चल रहा है। अब इस मामले में 19 फरवरी को फिर सुनवाई होगी। इसमें कोर्ट ने पुलिस कर्मचारियों को तलब किया है। अब उनकी गवाही होगी। अभी तक अभियोजन के दो गवाहियां दर्ज की जा चुकी हैं।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *